http://WWW.PANDITMUKESHBHARDWAJ.COM
PTMUKESHBHARDWAJ 58db87deaa36f7053cb17ee0 False 45 5
OK
background image not found
Found Update results for
'east'
4
Vastu Tips for Puja Room or Puja-Room-Vastu-Shastra according to Vastu Consultant- Pt.Mukesh Bhardwaj While planning a house, due to the space problem many people not built a separate pooja room in house but according to vastu we must make a place for GOD.This room should be designed carefully because when you do meditation, you should gain the positive energies and then you can feel charged.There are certain rules which one must follow before the commencement of designing a pooja room. *It should not be on bedroom and wathroom's wall. It should always be situated in the North, East or the Northeast side of the house. *Triangular pattern of any God should not be drawn in the Pujaghar. *The Agnikund should be in the southeast direction of the worship room. *Lamp stand should be placed in the Southeast corner of the pooja room. *While worship-ping , the legs of the idol should be at the chest level of the person. *Nothing should be stored above the cabinet or slab here the God's idol is placed.
Vastu Tips for Puja Room or Puja-Room-Vastu-Shastra According to Vastu Shastra, the best direction in the house to build Puja Room is northeast followed by east and north directions. Northeast receives the most beneficial energies of Sun therefore, it is full of Satwik Tatva or pure essence (positive vibrations). • वास्तु के अनुसार, मुख्य द्वार के सामने पूजा का कमरा नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे पूजा के कमरे में निर्मित सकारात्मकता कम हो जाती है । • आपके घर में पूजा का कमरा भगवान का घर होता है और यह कभी भी अंधेरा नहीं होना चाहिए । पूजा के कमरे में अंधेरा होने से पूरे घर की तंदुरूस्ती पर प्रभाव पड़ता है इसलिए इस कमरे में कम-से-कम तेल का दीया लगाना शुभ होता है । • पूजा के कमरे को सोने के कमरे में स्थित न करें क्योंकि सोने का कमरा आराम तथा दिल-बहलाव का कमरा होता है । • पूजा के कमरे के उपर, नीचे या विरूध्द शौचालय स्थित नहीं होना चाहिए । इससे शौचालय की नकारात्मक ऊर्जा पूजा के कमरे के मंगलमय वातावरण को बिगाड़ देता है । Vastu Consultant in Jaipur - Pt. Mukesh Bhardwaj
If you find that at any point of time the quantity is going comfortable, but there are cases of complaints in quality of the products or services, than take-up the other holy direction i.e. East, if not for all, at least for the operations where the problems are emerging from. vastu consultant in Jaipur, vastu consultant in Rajasthan vastu consultant in Delhi vastu consultant in Goa, vastu consultant in Gujarat, vastu consultant in Haryana, more information call 9414049391
Vastu Tips for Bedroom by Astrologer and Vast Expert- Mukesh Bhardwaj.In our Indian Vastu Shastra our expert vastu scholars given much importance to this bedroom part as each and every human being is spending atleast 6 to 9 hours in bedroom. if the vastu at bed room is good, you will enjoy the real sensual life and have a great rest at bed room without disturbances and mental tensions. वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में बड़े-बुढ़ो(मुखिया) का बेडरूम दक्षिण दिशा में और युवाओं का बेडरूम उत्तर- पश्चिम दिशा या उत्तर में होना चाहिए। घर यदि दो मंजिला या उससे अधिक हो तो, मकान की पहली मंजिल पर बड़े-बुढ़ो(मुखिया) का बेडरूम दक्षिण-पश्चिम दिशा में बनया जा सकता है। बेडरूम में बैड हमेशा इस तरह रखा जाना चाहिए ताकि सोने वाले का सिर उत्तर दिशा और पैर दक्षिण दिशा की तरफ न हो, क्योंकि दक्षिण दिशा में पैर फैलाना वास्तुशास्त्र की दृष्टि में अच्छा नही होता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार बेडरूम में रखे बैड का सिरहाना पूर्व या दक्षिण दिशा की तरफ रखना अच्छा माना जाता है। बेडरूम में कभी भी मंदिर या पूजा स्थान नहीं रखना चाहिए यह वास्तुशासत्र की दृष्टी से अच्छा नही माना जाता है। बेडरूम के साथ यदि बाथरुम जोड़ना हो तो बेडरूम को उत्तर या पश्चिम भाग में बनाना उत्तम माना जाता है।
1
false